There was an error in this gadget

Sunday, January 1, 2012

"नव वर्ष मंगलमय हो"

नमस्कार.....

सर्वप्रथम सभी पाठकों को नव वर्ष २०१२ की हार्दिक शुभकामनायें...ईश्वर आप सबके जीवन में सुख, शांति, समृधि और खुशियाँ लाये.....

इसी मंगलकामना को संजोये मेरी यह कविता आप सबको समर्पित है....


नया वर्ष मंगल...
हो सबको यहाँ जो...
मिले सबको खुशियाँ...
वो चाहे जहाँ हो...

ये मेरी दुआ सब...
सदा मुस्कुराएँ...
हो दिल में ख़ुशी...
और सभी जगमगायें...

प्रफुल्लित से मन हों...
उलस्सित से तन हों...
सभी लोग चेतन....
आनंदित जीवन हो ...

जो भी मन में बसता हो॥
वो मिल ही जाये...
कोई दूसरा उसका...
दिल न लुभाए...

जो तेरे ह्रदय को...
धड़कता सा कर दे...
तो तेरे लिए उसका...
दिल संग धडके...

जो आखों में कोई...
है तारे सा चमके...
वो इस वर्ष में...
तेरा रह जाये बनके...

सभी स्वप्न सबके...
ही हो जाएँ पूरे...
किन्ही कारणों से...
रहे जो अधूरे...

ये जीवन कविता...
सरीखा बनायें....
हर एक रंग इसमे...
सब चुनकर लगाएं...

हर इक कार्य सबके ...
हों पूरे सदा ही.....
हर इक आस सबकी...
हो पूरी सदा ही....

कविता से हम...
दिल को दिल से मिलाएं...
नए गीत हम नित....
सदा गुनगुनायें.....

ये "दीपक" कि विनती है...
इश्वर से अब तो....
हर इक पग पे उन्नति...
मिले आप सब को....

सभी के सभी मैं...
दुःख-सुख बाँट पाऊं ...
है जो वादा जो खुद से॥
उसे मैं निभाऊं...

मुझे मित्र माना....
आभारी मैं सबका...
ये मेरी तमन्ना...
बनूँ आप सब सा.....

आप सभी को स-परिवार नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें....

स-आदर....

दीपक शुक्ल....

22 comments:

वन्दना said...

नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें।

दिगम्बर नासवा said...

सभी स्वप्न सबके...
ही हो जाएँ पूरे...
किन्ही कारणों से...
रहे जो अधूरे...

आमीन ... आपकी दुआ कबूल हो ...
आपको और परिवार में सभी को नव वर्ष की मंगल कामनाएं ...

अनुपमा त्रिपाठी... said...

शुभ विचार ...
सुंदर कविता ...
आपको भी नव वर्ष की शुभकामनायें ...

शिवम् मिश्रा said...

आपको भी सपरिवार नववर्ष २०१२ की बहुत बहुत हार्दिक मंगलकामनाएं !

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

सुन्दर रचना ..

नव वर्ष की शुभकामनायें

Mamta Bajpai said...

बहुत बढ़िया विचार ...आपको भी नव वर्ष ही मंगल कामनाये

shikha varshney said...

नव वर्ष पर सुन्दर विचार ..ढेरों शुभकामनायें .

kshama said...

Aapko bhee naya saal bahut,bahut mubarak ho!

कुमार संतोष said...

सुंदर रचना !

आभार !
नए साल की हार्दिक बधाई आपको !

sheetal said...

Deepak ji
is khubsurat kavita ke liye aur nav varsh ki itni khubsurat shubhkamna dene ke liye ham aapke aabhari hain.
meri yahi dua hain, aapke bhi nav varsh main saare khwaab pure ho.
HAPPY NEW YEAR.:)

शिवम् मिश्रा said...

इस पोस्ट के लिए आपका बहुत बहुत आभार - आपकी पोस्ट को शामिल किया गया है 'ब्लॉग बुलेटिन' पर - पधारें - और डालें एक नज़र - मुस्कराते - हँसते बीते २०१२ - ब्लॉग बुलेटिन

प्रेम सरोवर said...

प्रस्तुति अच्छी लगी । मेरे नए पोस्ट " जाके परदेशवा में भुलाई गईल राजा जी" पर आपके प्रतिक्रियाओं की आतुरता से प्रतीक्षा रहेगी । नव-वर्ष की मंगलमय एवं अशेष शुभकामनाओं के साथ ।

Urmi said...

आपको एवं आपके परिवार के सभी सदस्य को नये साल की ढेर सारी शुभकामनायें !
बहुत ख़ूबसूरत रचना !

प्रेम सरोवर said...

बहुत ही प्रशंसनीय प्रस्तुति । मेरे नए पोस्ट पर आपका इंतजार रहेगा । धन्यवाद ।

veerubhai said...

सभी स्वप्न सबके...
ही हो जाएँ पूरे...
किन्ही कारणों से...
रहे जो अधूरे...
कोमल भावना से प्रेरित मन के उदगार शुद्ध सात्विक .आभार .आप भी सानंद होवें ,आक्षण.

Robby Grey said...

nice work sir..

हरकीरत ' हीर' said...

किधर रहते हैं हजूर ....?
नववर्ष के बाद कुछ नहीं ....?

अल्पना वर्मा said...

नववर्ष पर यह कविता बहुत अच्छी लिखी है .
.............
इस के बाद कुछ नया नहीं लिखा दीपक जी ??

सतीश सक्सेना said...

शुभकामनायें।

India Darpan said...

बहुत ही बेहतरीन और प्रशंसनीय प्रस्तुति....


इंडिया दर्पण
की ओर से शुभकामनाएँ।

हरकीरत ' हीर' said...

?????

??????????

??????????????????

alka sarwat said...

कविता तो अच्छी लगी ,लेकिन बहुत पुरानी पोस्ट लगती है.

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails